What is Property Loan? Know how to take Property Loan

सीमित सैलरी और महंगाई वाले दौर में आपको कभी भी पैसों की अचानक जरूरत पड़ सकती है। वहीं दूसरी तरफ पर्सनल लोन की भी एक सीमा होती है कि, आप एक खास रकम से ज्‍यादा का कर्ज नहीं ले सकते। हो सकता है आपकी जरूरत इतनी बड़ी हो कि आप अपनी प्रॉपर्टी ही बेचने की योजना बना रहे हों।

हम पैसे कमाते है और उन पैसों से हम अपने लिए घर , जमीन, जेवरात , खरीदते है। जिन्हें हमारी निजी संपत्ति कहा जाता है। जिसे हम Personal Property कहते है। इसी Property के बदले हम जरूरत पड़ने पर Bank या Finance Company से loan ले सकते है।

लोन, किसी भी तरह की जरूरत को पूरा करने के लिए पैसों का इंतजाम करने के लिए एक सुविधाजनक वित्तीय समाधान बन गया है, चाहे वह कोई व्यक्तिगत जरूरत हो या पेशेवर। चाहे एक नया मकान, या कार खरीदना हो, या अपने बच्चे की पढ़ाई के लिए या किसी अन्य उद्देश्य को पूरा करने के लिए पैसों का इंतजाम करना हो, आपको अपनी जरूरत के मुताबिक लोन मिल सकता है। तो आइए जानते हैं इस आर्टिकल में Property Loan क्या है? इसे बैंकों द्वारा कैसे प्राप्त करें।

Property Loan क्या है?

आप अपनी सम्पति घर या जमीन को Security के तौर पर रख कर बैंक से Loan ले सकते है। इसे हम Property Loan कहते है। आपके पास जो जमीन होती है, घर होता है दुकान होती है। वो सब आपकी Property कहलाती है। 

जब आप पर कोई समस्या आती है। तो आप इन्हें बेच कर पैसे ले सकते है लेकिन बनाई गई Property को बेचना इतना आसन नहीं होता। क्योंकि Property को बनाने में कई साल लग जाते है और तब जाके प्रॉपर्टी बनती है।

आप अपनी प्रॉपर्टी को बेचने का निर्णय ले लेते है, तो भी प्रॉपर्टी को बेचना इतना आसान नहीं होता। क्योंकि एक प्रॉपर्टी को बाजार में बेचे जाने में बहुत समय लगता है। तो ऐसी स्थिती में Property को बेचने से ज्यादा बेहतर निर्णय है Property के Against Loan लेना।

 जिसे हम loan against property कहते है। आज हम आपको इस आर्टिकल में प्रॉपर्टी लोन कैसे लें यह जानेंगे।

आज के समय में आपको पुरे भारत में सभी सरकारी एवं प्राइवेट बैंक भी Property के Against loan दे देती है। Property Loan लेने के लिए अब आपको ज्यादा परेशान होने कि जरूरत नहीं है। आप अपने नजदीकी बैंक से प्रॉपर्टी लोन ले सकते है। लेकिन प्रॉपर्टी लोन लेने से पहले एक बार इसके बारे में विस्तार से जान ले ताकि आपको कोई नुकसान न हो।

प्रॉपर्टी लोन एवम पर्सनल लोन में अंतर

प्रॉपर्टी लोन एक सिक्योर्ड लोन माना जाता है। जबकि पर्सनल लोन को असुरक्षित लोन अर्थात अनसिक्योर्ड लोन माना जाता है। इसलिए प्रॉपर्टी पर आपको बड़ी आसानी से लोन मिल सकता है।

प्रॉपर्टी पर मिलने वाले लोन की ब्याज दर, पर्सनल लोन से कम होती है। पर्सनल लोन आपको 5 से 10 लाख से ऊपर मिलना मुश्किल हो जाता है।

लेकिन आप अपनी प्रॉपर्टी पर 5 से 10 करोड रुपए तक का भी लोन आसानी से ले सकते हैं। प्रॉपर्टी लोन आपको 15 वर्ष से अधिक अवधि के लिए भी मिल सकता है।

लेकिन पर्सनल लोन आपको चार-पांच वर्ष से अधिक के लिए नहीं मिल सकता है।

प्रॉपर्टी लोन में आपको अपनी प्रॉपर्टी गिरवी रखनी पड़ती है। और इसमें कुछ पेपर वर्क भी करना होता है। जबकि पर्सनल लोन में आपको यह सब नहीं करना पड़ता है। और पर्सनल लोन आपको जल्दी मिल जाता है

इंडियन बैंक से Property Loan कैसे लें

भारतीय बैंकों से लोन लेना अब बहुत ही आसान हो गया है क्योंकि एक तरफ तकनीकी और दूसरी तरफ बदलाव इन दोनों ने ही आज भारतीय बैंकों कि हालत बदल के रख दी है।

 जिस तरह से आप एक इंटरनेशनल बैंकों से प्रॉपर्टी लोन लेने के लिए Property loan कि details और जरुरी Documents के साथ लोन ले सकते है। ठीक उसी तरह आज आप भारतीय बैंकों से भी इसी प्रकार आसानी से लोन ले सकते है।

अब आपको Indian Banks से Property Loan लेने के लिए किसी बैंक अधिकारी के चक्कर काटने कि जरुरत नहीं है। आप बैंक के द्वारा मांगे गए जरुरी दस्तावेज़ देकर बड़ी ही आसानी से बैंक लोन ले सकते है।

Property Loan में Property पर कैसे लोन मिलता है।

आपके Property के अंदर आपके घर , जमीन जयदाद को मिलाकर जितना Total Property होता है। उसी की Market Value के हिसाब से मूल राशि के हिसाब पर आपको बैंक लोन देती है।

Property Loan के तहत आप कितना लोन ले सकते है।

आप Property Loan के तहत करोड़ो का भी लोन ले सकते है। लेकिन इसके लिए आपकी Property की Market Value करोड़ों में होनी चाहिए और इसके साथ ही बैंक यह भी देखती है कि, आपकी आय कितनी है। क्योंकि आप जिस सम्पत्ति पर loan ले रहे है उस लोन के पैसों को चुका  पाएंगे या नहीं। 

इसी कारण से property loan  लेने में बहुत समस्यायँ आती है। क्योंकि आपको इसके लिए कई तरह के Documents दिखाने पड़ते है।

इन सबके बाद बैंक आपको आपकी property पर 60-70% तक का लोन देती है।

Property Loan का ब्याज दर

Property Loan एक Floating Rate Loan है यानी की प्रॉपर्टी लोन पर व्याज दर स्थिर नही रहती । यानी यह बदल भी सकती है। इस लिए आपको loan लेते समय इसकी Interest Rate पता करनी होगी।

Property Loan में आवश्यक Documents 

1. पहचान पत्र (Identity Proof)

2. निवासी पता (Address Proof)

3. पैन कार्ड (Pan Card)

4. आधार कार्ड (Aadhar Card)

5. Property Tax silp

6. Property Papers

7. Income Tax Statements

प्रॉपर्टी लोन और होम लोन में अंतर

Home Loan एक ऐसा लोन होता है जिसमे आप अपनी जमीन पर घर को बनाने के लिए या फिर किसी घर को खरीदने के लिए loan लेते है और इसी को Home Loan कहते है।

जबकि

Property Loan आप तब लेते है जब आप किसी घर, जमीन या दुकान के मालिक होते है। और उन्हें बेचने की जगह गिरवी रख कर बैंक से loan लेते है। इस लिए यह दोनों लोन अलग-अलग होते है।

प्रॉपर्टी लोन के लिए योग्यता

प्रॉपर्टी लोन के लिए मुख्य मानदंड, आवेदक के नाम से संपत्ति का होना है, लेकिन अधिकांश बैंक कुछ अन्य योग्यता आवश्यकताओं को भी पूरा करने के लिए कहते हैं जो निम्न हैं।

आपको एक रोजगार प्राप्त व्यक्ति होना चाहिए।

न्यूनतम आयु सीमा 23 से 25 साल और लोन चुकाने की अधिकतम उम्र 65 से 70 साल तक सीमित है।

जिससे यह सुनिश्चित हो सके कि आप लोन चुकाने लायक पैसे कमाते हैं।

आपकी योग्यता का निर्धारण करने के लिए आपकी वित्तीय स्थिति, क्रेडिट स्कोर और आमदनी की भी जांच

की जाती है।

प्रॉपर्टी लोन लेने के फायदे

प्रॉपर्टी लोन कम समय में आसानी से मिल जाता है।

पर्सनल लोन की तुलना में प्रॉपर्टी लोन की ब्याज दर कम होती है।

प्रॉपर्टी लोन में आपको कम EMI के साथ अधिक धनराशि का लोन मिल सकता है।

Property Loan आपको लंबी अवधि के लिए आसानी से मिल जाता है।

Property Loan से जुड़ी कुछ जरूरी बातें।

Property Loan की व्याज दर Personal Loan से कम होती है।

Property Loan में आपकी सम्पति गिरवी होती है तो अगर आप Loan नही चुका पाते तो इसमे बैंक आपकी संपत्ति को बेच कर लोन के पैसे निकल लेगा।

Property Loan में कभी अपना घर गिरवी न रखे, क्योंकि अगर आप पैसे नही दे पाए तो आपसे आपका घर भी छीन लिया जयेगा।

यदि संपत्ति एक से अधिक लोगों के नाम पर है तो सभी लोगों को संयुक्त उधारकर्ताओं या सह-आवेदकों की भूमिका निभानी पड़ेगी।

संपत्ति को लोन के लिए बंधक रखने पर, आप बकाया लोन चुकाने से पहले उसे बेच नहीं सकते हैं।

लोन चुकाने में चूक होने पर, प्राधिकृत क्षेत्राधिकार के तहत उधारदाता को आपकी संपत्ति को जब्त करने, उसे बेचने और लोन की बाकी रकम वसूल करने का अधिकार होता है।

Property Loan पर आपको Processing Fees,

 Registration Fees, Property Valuation Fees, Documentation की भी fees आपको देनी पड़ती है।

Property Loan लेने से पहले अन्य बैंको से इस बारे में जानकारी ले और जहा पर आपको काम व्याज दर में काम fees चार्ज के साथ loan मीले वहां से loan ले।

SBI Property Loan in Hindi

सभी बैंक कि तरह State Bank Of India भी आपको Property के against loan देती है तो अगर आप भारतीय स्टेट बैंक के Customer है तो आप SBI Bank से भी Property Loan ले सकते है।

Property Loan In Bank Of India

Bank of India भी सभी बैंकों कि तरह आपको Property के against loan प्रदान करती है तो अगर आप BOI Bank के ग्राहक है तो आप बैंक ऑफ़ इंडिया से भी प्रॉपर्टी लोन ले सकते है।

Property Loan In Union Bank Of India

Union Bank हमेशा से ही अपने ग्राहकों के हित में फासले लेते आया है तो अगर आप Union Bank of India के ग्राहक है तो आप इससे भी Property Loan ले सकते है।

Leave a Comment