What is Gold Loan? Learn the easy way to get a Gold Loan

India में लोग Gold बहुत खरीदते है और इसी कारण से आज हर घर में आपको सोना मिलेगा। गहनों के रूप में या मुद्रा या फिर मूर्तियों के रूप में।

कई बार हमें इमरजेंसी में पैसों की जरूरत होती है। ऐसे में घर में रखा सोना काफी काम आ सकता है।

मुसीबत के समय पैसों की जरूरत पड़ने पर आपको gold बहुत काम आता है क्योंकि आप उसे बेच कर पैसे ले सकते है। लेकिन कई बार ऐसा भी होता है की आपके पास जो गोल्ड होता है वह या तो कोई पारिवारिक जेवरात होते है या फिर भगवानों की मूर्ति होती है।

इस कारण से आप उन्हें बेंच नही पाते। भले ही आप इन्हें बेच नही सकते लेकिन आप इनके बदले में लोन ले सकते है।आइए जानते हैं इस आर्टिकल में की गोल्ड लोन कैसे लें।

अब कई सारे बैंक और Finance company आपको यह सुविधा देते है की आप अपने सोने के जेबरात security के तौर पर रख कर उन पर loan ले सकते है। जिसे हम Gold Loan कहते है।

Gold Loan क्या है?

गोल्ड लोन Personal Loan की तरह ही होता है जिसके पैसों का इस्तेमाल आप किसी भी काम में कर सकते है। लेकिन Personal loan में और Gold loan में थोड़ा अंतर होता है।

Personal loan लेने के लिए आपका credit score देखा जाता है और अगर आपका credit score खराब होता है तो आपको personal लोन नहीं मिलता।

लेकिन Gold loan में ऐसा नहीं है अगर आपका credit score खराब भी है तो भी आपको गोल्ड लोन मिल जाएगा।

Gold Loan के फायदे

गोल्ड लोन एक लोन होता है जो आपको बहुत ही आसानी से मिल जाता है क्योंकि आप गोल्ड लोन के लिए सोना Security के रुप में देते है। 

गोल्ड लोन की ब्याज दर पर्सनल लोन से कम हो सकती है।

आप सोना गिरवी रखकर पैसे उधार लेते है, इसलिए काफी कम समय में लोन एप्रूव हो जाता है।

होम लोन या दूसरे लोन के लिए आपका सिबिल यानी क्रेडिट स्कोर जरूरी होता है। लेकिन, गोल्ड लोन में क्रेडिट हिस्ट्री की जरूरत नहीं पड़ती है।

गोल्ड लोन लेने के लिए किसी भी सर्टिफिकेट या गारंटी की जरूरत नही होती है।

गोल्ड लोन में दूसरे लोन के मसलन होम लोन या पर्सनल लोन की तरह समय से पहले चुकाने पर प्री-पेमेंट पेनाल्टी नहीं लगती है।

बैंक और finance Company गोल्ड लोन किस प्रकार देती है।

RBI (Reserve Bank of India) के नियम अनुसार कोई भी Bank या Financial Company आपको आपके Gold के मूल्य पर अधिकतम 75% तक लोन दे सकती है। इस हिसाब से आपको LTV ( Loan To Value) 75% से ज्यादा नही मिल सकती।

RBI के बाद भी बैंक और फाइनेंसियल कंपनी के भी अपने कुछ नियम होते है और उन नियमों के अनुसार आपको 60-65 % तक है LTV मिलता है।

आइए यह सब एक example की मदद से समझते है।

मान लीजिए आपके पास 10/ग्राम Gold है जिसकी क़ीमत (2000 Rs प्रति/ग्राम) है। तो आपके 10 ग्राम सोने की कीमत कितनी होगी।

10 X 2000 = 20,000

अब आपको बैंक ने LTV 65 % दी तो आपको loan में कितने रुपये मिलेंगे?

20,000/65% = 13,000 rs

तो बैंक आपको 13000 रुपये लोन के रूप में देगी।

Gold Loan कैसे कलकुलेट करें

सोने की कीमत calculate करने के लिए बैंक 22 Carat Gold की Closing Price के Last 30 days का gross निकलती है और उसी के हिसाब से सोने की कीमत तय की जाती है लेकिन अगर आपका सोना 22 Carat से कम है तो आपको उसके कम पैसे मिलेंगे।

जब आप Gold Loan के लिए jewellery देते है तो loan में सिर्फ Gold को ही मूल्य माना जाता है।

 अगर आपकी jewelleryमें कोई Diamond लगा हुआ है तो उसको मूल्य में नही गिना जाएगा।

Gold Loan की ब्याज दर क्या है?

गोल्ड लोन पर व्याज दर बैंक एवं Finance कंपनी के हिसाब से होती है क्योंकि इस पर उनका control होता है लेकिन Gold Loan की Interest rate पर्सनल लोन से तो कम ही होती है।

बाकि Gold लोन की व्याज दर व EMI उसके LTV पर निर्भर करती है।

Gold Loan का समय सिमा क्या है?

गोल्ड लोन की समय सिमा सामन्यतः 6 माह से 1 वर्ष के लिए होती है। लेकिन कुछ बैंकों और फाइनेंसियल कंपनियों में आपको ज्यादा समय अवधि भी मिल सकती है जो की 1 वर्ष से लेकर 3 वर्ष तक हो सकती है।

Gold Loan का रीपेमेंट कैसे करें

गोल्ड लोन का भुगतान आप EMI के रूप में कर सकते है। जिसमे आप EMI की मदद से मूल औऱ ब्याज जमा कर सकते है। आप चाहे तो ब्याज की राशि कटवा कर भी लोन ले सकते है जिसमे आपको सिर्फ अंत में मूल चुकाना होगा।

अगर आप समय पर पूरे पैसे जमा कर देते है व्याज के साथ तो बैंक आपको आपके जेवरात लोटा देती है।

Gold Loan Ke liye क्या डॉक्यूमेंट चाहिए

पहचान पत्र (identity proof)

निवास स्थान का प्रमाण (address proof)

एड्रेस प्रूफ के लिए आपके पास आधार कार्ड/बिजली का बिल/ टेलीफोन बिल/ पानी का बिल/राशन कार्ड में से कोई भी एक। कई बैंक आपके हस्ताक्षर की जांच के लिए पासपोर्ट या ड्राइविंग लाइसेंस की मांग करते हैं। इसके साथ ही पासपोर्ट साइज फोटो भी जरूरी है।

 PAN card

Gold (सोना, सोने के जेवर)

इन बातों का रखें विशेष ध्यान

किसी भी अन्य लोन की तरह गोल्ड लोन री-पेमेंट को लेकर अनुशासन जरूरी है। अगर आप निर्धारित तिथि पर भुगतान नहीं करते तो लोन देने वाला बैंक 2-3 फीसदी का जुर्माना लगा सकता है।

अगर आप तीन से ज्यादा गोल्ड लोन की ईएमआई नहीं भरते तो पेनाल्टी की रकम बढ़ जाती है।

लोन देते समय जो जिस दस्तावेज पर फाइनेंस कंपनी आपसे दस्तखत कराती हैं, उसमें इस शर्त का जिक्र होता है कि अगर आप 90 दिनों तक लोन की ईएमआई नहीं चुकाते हैं तो ग्रेस पीरियड के बाद अपनी बकाया रकम की वसूली के लिए बैंक आपका गिरवी रखा सोना बेच सकता है।

कई वित्तीय संस्थान लोन देते समय प्रोसेसिंग फीस चार्ज करते हैं। प्री-पेमेंट करने पर पेनाल्टी लगाते हैं।

प्रोसेसिंग फीस लोन की रकम की अधिकतम 0.5-2 फीसदी तक हो सकती है।

कई बैंक वैल्यूएशन चार्ज के नाम पर भी पैसे लेते हैं यानी सोने की गुणवत्ता जांचने में किए गए खर्च के नाम पर फीस वसूलते हैं।

लोन के लिए आवेदन करने से पहले इसका भी पता कर लें।

Gold Loan के नुकसान

अगर आप गोल्ड लोन पर लिए गए पैसे नही चूकते तो बैंक आपके जेवर बेंच देती है।

Gold Loan पर आपको आपके सोने की मूल राशि के 65% राशि का लोन मिलता है।

Gold loan पर कुछ Processing फीस भी लगती है।

Gold Loan कम समय अवधि का होता है इस लिए इस पर व्याज ज्यादा देना पड़ता है।

ज्यादा समय अवधि के लिए Gold Loan नही मिलता।

Gold Loan कौन देता है?

Gold Loan देने वाले कुछ महत्वपूर्ण बैंक एवं फाइनेंस कंपनी।

SBI Bank Gold Loan Scheme

ICICI Bank Gold Loan Scheme

AXIS Bank Gold Loan Schemes

Muhoort Finance Gold Loan Schemes

Manna puran Finance Gold Loan Schemes

Leave a Comment