How to get a job in ISRO? Know its eligibility and selection process

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) भारत सरकार की अंतरिक्ष एजेंसी है, इसका काम अंतरीक्ष से जुड़े हुए होते है। 

इसरो में काम करने का देश के हर इंजीनियरस साइंटिस्ट और टेक्नीशियन का सपना होता है। उनके इस सपने को पूरा करने के लिए इसरो हर साल साइंटिस्ट, इंजीनियर रिसर्चर समेत कई सारे पदों पर भर्तियां निकालता है। लेकिन इन पदों के बारे में काफी कम लोगों को ही पता चल पाता है।

तो आइए आज हम जानते है की  इसरो में आपको जॉब कैसे मिल सकती है। इसमें जॉब करने के लिए सिलेक्शन प्रोसेस क्या है?

ISRO क्या है?

Indian Space Research Organization इसको हिन्दी में भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संस्थान कहते है। इसरो की स्थापना विक्रम सारा भाई ने 15 august 1969 में की थी,जो एक भारतीय है।

ISRO  में जॉब कैसे पाएं

इसरो में जॉब पाने के लिए आपको सबसे पहले ग्रेजुएशन करने की जरुरत होती है, बिना ग्रेजुएशन के आप इसमें जॉब नहीं पा सकते है, ग्रेजुएशन आप Civil, Electrical, Architecture, Mechanical, Electronics, computer science and Refrigeration and Air Conditioning जैसे स्ट्रीम से कर सकते है, इससे आपको इस्म्व जॉब बहुत ही आसानी से मिल जाती है।।

ग्रेजुएशन करने के बाद आपको इसमें जॉब के लिए अप्लाई करना होता है। अप्लाई करने के लिए आप इसकी ऑफिसियल वेबसाइट www.isro.gov.in जाकर अप्लाई कर सकते है।

अप्लाई करने के बाद आपको इसमें जॉब के लिए एग्जाम को देना होता है, एग्जाम के बाद आपको इंटरव्यू देना होता है। जब आप इंटरव्यू को पास कर लेते है तो आपको इसमें ट्रेनिंग पर रखा जाता है। जब आपकी ट्रेनिंग पूरी हो जाती है तो आपको इसमें जॉब पर रख लिया जाता है।

इसरो में जॉब की योग्यता क्या है?

इसरो में जॉब पाने के लिए आपको निचे दी हुई एलिजिबिलिटी को पूरा करना होता है।

उम्र सीमा इतनी होनी चाहिए

इसरो में जॉब पाने के लिए सभी उम्मीदवारों के लिए अधिकतम आयु सीमा 35 वर्ष है अर्थात 35 वर्ष से कम आयु के उम्मीदवार ISRO में वैज्ञानिक के पद के लिए आवेदन कर सकते हैं।

सभी एससी / एसटी उम्मीदवारों के लिए अधिकतम आयु सीमा 40 वर्ष है।

सभी ओबीसी उम्मीदवारों के लिए अधिकतम आयु सीमा 38 वर्ष है।

भूतपूर्व सैनिकों और विकलांग व्यक्तियों (PwD) को सरकार के अनुसार विशेष छूट दी जाती है।

Qualification

इसरो को वैज्ञानिक के पद के लिए Civil, Electrical, Architecture, Mechanical, Electronics, computer science and Refrigeration and Air Conditioning जैसे स्ट्रीम से ग्रेजुएशन करने की आवश्यकता होती है।

सभी उम्मीदवार जो आवेदन करने के इच्छुक हैं, उनके पास प्रथम श्रेणी में बीई / बी.टेक की डिग्री होनी चाहिए, जिसमें  न्यूनतम 65% अंक होना जरुरी है।

जो उम्मीदवार अपनी योग्यता के अंतिम वर्ष में हैं, वे आवेदन कर सकते है, अगर आप अप्लाई करते है तो भी आपको इसमें कम से कम 65% लाना जरुरी होता है।

उन सभी उम्मीदवारों के लिए जिन्होंने बीई / बी.टेक (लेटरल एंट्री) के बाद डिप्लोमा किया है, वे भी इसके लिए अप्लाई कर सकते है।

इंस्टीट्यूशन ऑफ इंजीनियर्स के एसोसिएट सदस्य (AMIE) उम्मीदवार भी ISRO में आवेदन कर सकते हैं, लेकिन इन उम्मीदवारों के लिए विशेष शर्तें निर्दिष्ट हैं, इसलिए आवेदन करने से पहले AMIE उम्मीदवारों को यह देखना होगा कि वे आवेदन करने से पहले योग्य हैं या नहीं।

ISRO में जॉब के लिए कैसे अप्लाई करें 

ISRO द्वारा जारी किए गए पद के लिए आवेदन करने वाले सभी उम्मीदवारों को पहले राष्ट्रीय कैरियर सेवा (NCS) पोर्टल में रजिस्ट्रेशन करना होगा, जिसके बाद वे आवेदन कर सकते हैं।

एनसीएस में रजिस्ट्रेशन करने के बाद उम्मीदवारों को अपने आवेदन को ऑनलाइन दर्ज करने के लिए www.isro.gov.in पर इसरो की वेबसाइट पर जाना चाहिए।

रजिस्ट्रेशन के दौरान निर्धारित फ़ाइल आकार में उम्मीदवारों के नवीनतम पासपोर्ट आकार के फोटोग्राफ और हस्ताक्षर की स्कैन की गई फोटो को आवेदन में अपलोड करना आवश्यक है।

उम्मीदवारों से आवेदन पूरा होने के बाद एक ऑन-लाइन रजिस्ट्रेशन की संख्या दी जाएगी, जिसे भविष्य के संदर्भ के लिए सावधानीपूर्वक रखें

ISRO का पेपर पेटर्न कैसा होता है

इसरो की परीक्षा में कैंडिडेट से 80 प्रश्न पूछे जाते है, सभी प्रश्न 3 अंक के रहते है, यह सभी प्रश्न आपको ऑब्जेक्टिव टाइप पूछे जाते है, जिनमे आपको एक सही जवाब पर क्लिक करना होता है।

इस पेपर को हल करने के लिए आपको 90 मिनट का समय मिलता है, आपको इस समय के अन्दर ही इस प्रश्न पत्र को हल करना होता है।

ISRO  में जॉब की सलेक्शन प्रोसेस क्या है?

इसरो में जॉब करने के लिए आपको सबसे पहले इसकी एग्जाम को देना होता है। जब आप इसकी एग्जाम को पास कर लेते है तो आपको इसमें इंटरव्यू को देना पड़ता है।

जब आप इसके एग्जाम और इंटरव्यू दोनों को पास कर लेते है तो आपको इसमें सिलेक्शन हो जाता है।

ISRO Me Scientist कैसे बने

इसरो में साइंटिस्ट बनने के लिए आपको 12th में PCM Subject के साथ पास करनी होगी। उसके बाद आपको Engineering me graduation या post -graduation करना पड़ेगा या आप IIST में एडमिशन लेकर Direct scientist बन सकते है। इसके लिए आपको JEE (joint entrance exam ) की परीक्षा देनी पड़ती है।

वेतन और अन्य सुविधाएं

इसरो में औसतन सैलरी 15600-39100 तक मिलती है। सैलरी के अतिरिक्त उन्हें आवास और ट्रांसपोर्ट की सुविधा भी दी जाती है। उनके परिवार वालों को मेडिकल की सुविधा और कर्मचारी दी जाती है।

इसरो किस लिए काम करता है

इसरो का प्रमुख उद्देश्य अंतरिक्ष प्रौद्योगिकी का विकास तथा विभिन्न राष्ट्रीय आवश्यकताओं में उनका उपयोग करना है। डॉ.विक्रम ए. साराभाई को भारत में अंतरिक्ष कार्यक्रमों का संस्थापक जनक माना जाता है। 

जानकारी के लिए बता दें कि इसरो ने दो प्रमुख अंतरिक्ष प्रणालियों की स्थापना की है, संचार, दूरदर्शन प्रसारण और मौसम-विज्ञान सेवाओं के लिए इन्सेट और संसाधन मॉनिटरन और प्रबंधन के लिए भारतीय सुदूर संवेदन उपग्रह (आईआरएस) प्रणाली।

Leave a Comment